January 30, 2023

बेसिक साइंटिफिक रिसर्च फेलोशिप I UGC Basic Scientific Research Scheme (UGC BSR Fellowship)

यूजीसी बेसिक साइंटिफिक रिसर्च फेलोशिप (UGC BSR Fellowship) क्या है?

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग द्वारा कुछ मेधावी छात्रों के लिए विज्ञान के क्षेत्र में शोध करने के लिए बीएसआर योजना है जो पीएचडी के लिए पंजीकरण के लिए चुने गए हैं।

बीएसआर योजना के उद्देश्य

बीएसआर योजना का उद्देश्य उन मेधावी उम्मीदवारों के लिए विज्ञान के क्षेत्र में उन्नत अध्ययन और अनुसंधान करने के अवसर प्रदान करना है जो इस क्षेत्र में शोध करना चाहते हैं और विज्ञान में पी एच डी की डिग्री लेना चाहते हैं ।

पात्रता

जिन उम्मीदवारों को पीएचडी में पंजीकरण के लिए चुना गया है। यूजीसी अधिसूचना में पहले से ही उल्लिखित एक प्रक्रिया के माध्यम से विश्वविद्यालय का कार्यक्रम उत्कृष्टता के लिए संभावित विश्वविद्यालयों / उत्कृष्टता के लिए संभावित केंद्रों / उन्नत अध्ययन केंद्रों और यूजीसी द्वारा पहचाने गए विशेष सहायता विभाग में नियमित प्रवेश प्रक्रिया द्वारा इसका लाभ उठाया जा सकता है। इसमें प्रवेश के बाद पीएचडी के लिए पंजीकरण हो सकता है।

 

बीएसआर फेलोशिप योजना के अंतर्गत लाभ

वित्तीय सहायता

गेट/नेट योग्य उम्मीदवारों के लिए फेलोशिप:

2 साल के लिए जेआरएफ @ 24,800/- प्रति माह

एसआरएफ के लिए शेष अवधि के लिए 27,900 प्रतिमाह।

दूसरों के लिए फेलोशिप:

जेआरएफ को 21,700/- 2 साल के लिए

एसआरएफ को शेष अवधि के लिए 24,800/- प्रतिमाह

आकस्मिकता (Contingency)

जेआरएफ के लिए 12,000/- प्रति वर्ष

एसआरएफ के लिए 25,000/- प्रति वर्ष

एच आर ए 

i) संस्थानों में उम्मीदवारों को उपयुक्त छात्रावास आवास प्रदान किया जा सकता है। ऐसे मामलों में, फेलो मेस, बिजली, पानी के शुल्क आदि को छोड़कर केवल छात्रावास शुल्क लेने के लिए पात्र है। इस आशय का एक प्रमाण पत्र रजिस्ट्रार/निदेशक/प्रिंसिपल के माध्यम से प्रस्तुत किया जाना है। HRA उन उम्मीदवारों के लिए स्वीकार्य नहीं है जो छात्रावास में रह रहे हैं।

ii) छात्रावास आवास की अनुपलब्धता के मामले में, फ़ेलो को मेजबान संस्थान द्वारा एकल आवास प्रदान किया जा सकता है।

ऐसे मामलों में, वास्तविक आधार पर फेलो द्वारा भुगतान किए गए किराए की प्रतिपूर्ति सरकार के अनुसार एचआरए की सीमा के अधीन की जा सकती है। भारत के मानदंड।

iii) यदि साथी अपने आवास की व्यवस्था स्वयं करता है, तो वह सरकार द्वारा शहरों के वर्गीकरण के अनुसार एचआरए प्राप्त करने का हकदार हो सकता है।

चिकित्सा
इस फेलोशिप के तहत कोई अलग/निश्चित चिकित्सा सहायता प्रदान नहीं की जाती है। हालांकि, फेलो विश्वविद्यालय / संस्थान / कॉलेज में उपलब्ध मेडिकल सुविधाओं का लाभ उठा सकता है।

छुट्टियाँ 
1. कोई भी फ़ेलो सार्वजनिक छुट्टियों के अलावा एक वर्ष में अधिकतम 30 दिनों की छुट्टी बीएसआर फेलो द्वारा विभागाध्यक्ष के अनुमोदन से ली जा सकती है। हालांकि, वे किसी भी अन्य छुट्टियों, जैसे गर्मी, सर्दी और पूजा की छुट्टियों के हकदार नहीं हैं।

2. इस योजना के तहत पुरस्कार की अवधि के दौरान एक बार भारत सरकार के नियमों के अनुसार उम्मीदवार फेलोशिप की पूरी दरों पर मातृत्व/पितृत्व अवकाश के लिए पात्र हैं।

3. अध्येता, विशेष मामलों में, संबंधित संस्था के विभागाध्यक्ष की सिफारिश पर पुरस्कार की अवधि के दौरान एक वर्ष से अधिक की अवधि के लिए अध्येतावृत्ति और आकस्मिकता के बिना आयोग द्वारा शैक्षणिक अवकाश की अनुमति दी जा सकती है।

अकादमिक / शिक्षण कार्य या शैक्षणिक कार्य के सिलसिले में विदेश यात्रा में यूजीसी से यात्रा पर होने वाले खर्च का दावा नहीं किया जा सकता है।

आवेदन कि प्रक्रिया (ऑनलाइन)

इस योजना के तहत केवल वे उम्मीदवार ही फेलोशिप के लिए पात्र होंगे जो किसी विश्वविद्यालय में पी एच डी में नामांकन के लिए चुने गए हैं।  इसमे प्रवेश के बाद पी एच डी में प्रवेश हो जाएगा।

उम्मीदवारों को चिन्हित विश्वविद्यालयों/संस्थानों में रिसर्च फेलोशिप के लिए आवेदन करना होगा। इन दिशानिर्देशों में निहित प्रावधानों के अनुसार संबंधित संस्थान द्वारा चयन किया जाएगा।

कोई भी संस्थान या विश्वविद्यालय निम्नलिखित प्राविधानों के तहत चयन समिति द्वारा साक्षात्कार की प्रक्रिया के माध्यम से योग्य उम्मीदवारों का अनुसंधान अध्येताओं के रूप में चयन करेगा जिनमें निम्नलिखित हो सकते हैं : –

क) कुलपति द्वारा नामित एक प्रख्यात वैज्ञानिक
बी) विभाग के प्रमुख
ग) विभाग से एक प्रोफेसर और एक रीडर, कुलपति द्वारा नामित किया जाएगा
घ) विभागाध्यक्ष द्वारा प्रस्तावित नामों के पैनल में से कुलपति द्वारा विश्वविद्यालय से बाहर के दो विशेषज्ञों को नामित किया जाएगा।

बी एस आर फेलोसशीप के लिए आवश्यक दस्तावेज

किसी भी चयनित रिसर्च फेलो को अपने नामित शाखा में निम्नलिखित दस्तावेज जमा करने की आवश्यकता होगी।

1. निरंतरता प्रमाण पत्र (हर तीन महीने के अंत में प्रस्तुत किया जाना है)
2. वार्षिक प्रगति रिपोर्ट (फेलोशिप के एक वर्ष पूरा होने के बाद प्रस्तुत की जानी है)
3. आकस्मिक अनुदानों का विवरण (Accounts of contingency grants)
4. एचआरए प्रमाणपत्र (HRA certificate)

Share

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *